ग्राम पंचायत तारखेड़ी की खुल रहीं पोल मजदूरी भुगतान के लिए भटकते मजदूर मनरेगा में काम करवाने के बाद अभी तक नहीं दी राशि…

PicsArt 09 16 08.45.16 1

 

पेटलावद से हरिश राठौड़ की रिपोर्ट

पेटलावद। ग्राम पंचायत तारखेड़ी में लगातार नयें-नयें भ्रष्टाचार और गरीबों के हक पर डाका डालने के मामले सामने आ रहे है। बुधवार को एक एैसा हीं मामला फिर से प्रकाश में आया है जिसमें ग्रामीणों द्वारा शासन की मनरेगा योजना के तहत काम करवाने के बाद मजदूरी का भुगतान नहीं करने की बात सामने आ रहीं है।

यह है पुरा मामला….

ग्राम पंचायत तारखेड़ी के ग्राम गरवाखेड़ी के मजदूरों ने अनुविभागीय अधिकारी शिशिर गेमावत को एक ज्ञापन सोंपकर मजदूरी भुगतान की मांग की है। ग्राम पंचायत के पूर्व सरपंच लींबाजी वसुनिया के साथ मजदूर कमलेश, बबलु, अम्बालाल, सविता, कालु, रेखा, मीरा, सावरी, लुंगा आदि ने ज्ञापन सांपते हुए बताया कि तारखेड़ी पंचायत के ग्राम गरवाखेड़ी के लगभग 40 से 50 मजदूरों ने मनरेगा योजना के तहत जानीवाली नाकी नामक तालाब व कंटुर पर 190 रूपयें प्रतिदिन के हिसाब से अप्रेल माह से 8 से 10 हप्तें तक रोजाना कार्य किया था, जिसकी राशि मजदूरों आज तक प्राप्त नहीं हुई है।

जुझ रहे आर्थिक तंगी से….

मजदूरों ने बताया कि पंचायत ने हमसें काम तो ले लिया लेकिन राशि का भुगतान नहीं करने से हमें आर्थिक परेशानियां का सामना करना पड़ रहा है। हमारें परिवार व बच्चों का भरण पोषण करना मुश्किल हो रहा है।

कई बार दे चुके आवेदन…

मजदूरी भुगतान के लिए ग्रामीणों द्वारा कई बार ग्राम पंचायत तारखेड़ी में व जनपद पंचायत पेटलावद में राशि की मांग की गई लेकिन जिम्मेदारों के द्वारा अभी तक कोई सुनवाई नहीं हुई है। मजदूरों ने पंचायत सचिव हेमेन्द्र गरवाल, रोजगार सहायक कालुसिंह समराया, उपयंत्री हरचन्द्र मैड़ा पर फर्जिवाड़ा का आरोप भी लगाया और कहां कि जिन लोगो ने तालाब पर काम किया हीं नहीं उनके खातों में राशि डाल दी और जिसने काम किया उसको आज तक राशि का भुगतान नहीं किया गया है। मजदूरों ने एसडीएम से गुहार लगाते हुए तत्काल मजदूरी का भुगतान करने की मांग की है जिससे की उनके खुन पसीने की कमाई उन्हें मिल सके।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! samachar 20