श्राद पक्ष का अंतिम दिन आज पूर्वजों की आत्मशांति के लिए सामुहिक तर्पण का हुआ आयोजन

IMG 20200916 WA0003

IMG 20200916 WA0002

पेटलावद से हरिश राठौड़ की रिपोर्ट

पेटलावद। अंतत चोदस पर भगवान श्रीगणेश के दस दिवसीय आयोजन की समाप्ती व विसर्जन के बाद श्राद पक्ष प्रारंभ होता हे और भादवा माह की अश्विन कृष्ण पक्ष की एकम से अमावस्या तक 16 दिवस श्राद पक्ष में माने जाते है। इस दौरान अपने पूर्वजों और पित्रों की आत्म शांति व मुक्ति हेतू परिजन श्राद डालते है और विभिन्न प्रकार के धार्मिक आयोजन यथा पित तर्पण, पिण्डदान तथा ब्राहम्ण भोज, गोग्रास व कोओं को खीर प्रसादी नेवेद्ध के साथ कई लोग गयाजी, हरिद्वार एवं उज्जैन आदि पवित्र तिर्थ स्थलों पर जाकर एवं पवित्र नदीयों में स्नान करके अपने पूर्वजों की आत्मशांति के लिए नाना प्रकार से ब्राहम्णों द्वारा बतायें अनुसार कर्मकाण्ड आदि करते है।

सामुहिक तर्पण किया….

गुरूवार को इस वर्ष के श्राद पक्ष का अंतिम दिन होकर अमावस्या है इस दिन भी परिजनों द्वारा अपने पूर्वजों के लिए कई प्रकार से कर्मकाण्ड आयोजित कियें जाएगें। इसी क्रम में पेटलावद के राममोहल्ला स्थित श्रीराम मंदिर पर पंडित पियुष अशोक जोशी द्वारा सामुहिक पितृ तर्पण करवाया गया। लगभग 25 से अधिक परिजनों द्वारा ब्राहम्ण द्वारा बताई विधि अनुसार अपने पूर्वजों की आत्मशांति के लिए सामुहिक पितृ तर्पण किया। इस अनुठे आयोजन में सहभागिता करने वाले परिजनों द्वारा न सिर्फ कर्मकाण्ड किया गया बल्की यथा शक्ति दान पुण्य भी किया।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! samachar 20